Zubair Ali Tabish shayari collection


Best shayari collection on zubair Ali Tabish /zubair Ali ki famous shayari

Zubair Ali Tabish

दोस्तों इस आर्टिकल में हम बात करने जा रहे हैं एक ऐसे शायर की जिनका नाम है ज़ुबैर अली ताबिश (Zubair Ali Tabish) ,जो भारत में आज के दौर के सबसे लोकप्रिय युवा शायरों में से एक हैं। इस बात मुहर लगाती है उनकी युवाओं के बीच लोकप्रियता और अदब को दुनिया में उनका मुकाम।

रेख़्ता  2018 में हज़ारों के हुज़ूम को अपने एक एक शेर पर खड़ा कर देना वाले शायर जुबैर,आज दुबई सहित दुनिया भर के अनेक शहर जहाँ शायरी को पढ़ा और समझा जाता है वहाँ वो और उनकी शायरी पहुँच चुकी है,

महज़ 32 वर्षीय ज़ुबैर अली ताबिश , nandurbar Maharashtra के रहने वाले हैं और वहाँ एक अध्यापक के रूप में काम करते हैं और साथ ही ऊन्हे आज अपनी शायरी के अनोखे अंदाज के लिए दुनिया भर में जाना जाता है ।

यहाँ हम आपके साथ साझा कर रहें हैं उनके कुछ बेहतरीन  शेर ,


*******   ********  *******

दरख़्त काट के जब थक गया लकड़-हारा
तो इक दरख़्त के साए में जा के बैठ गया

Best hindi shayari
Zubair ali tabish


*******   ********  *******
    


जहाँ आके तुम वापस गए हो
वहाँ अब तक कोई पहुंचा नहीं है

Best hindi shayari
Zubair ali tabish

*******   ********  *******

चाहत में मर जाने वाली लड़की हो
तुम सचमुच अफ़साने वाली लड़की हो

आखिरी बैंच पे बैठने वाला लड़का मैं
जाओ तुम अव्वल आने वाली लड़की हो

top hindi shayari
Zubair ali tabish 

*******   ********  *******

हाल न पूछो मोहन का
सब कुछ राधे राधे है

Best shayari in hindi
Zubair ali tabish

*******   ********  *******

किसी का हाथ थाम लूँ मैं
वो तन्हा मिल गया तो क्या कहूँगा

Best shayari in hindi
Zubair ali tabish

*******   ********  *******

चूड़ियाँ बेच के वो मेरे लिए लायी 'गिटार '
तार छेड़ूँ तो खनकने की सदा आती है

Best urdu shayari
Zubair ali tabish

*******   ********  *******


के 'हैलो ' सुनते ही कट कर दिया है उसने मेरा फ़ोन
खुदा का शुक्र है आवाज़ तो पहचानता है वो

Best shayari
Zubair ali tabish

*******   ********  *******

भरे हुए जाम पर सुराही का सर झुका तो बुरा लगेगा
जिसे तेरी आरज़ू नहीं तू उसे मिला तो बुरा लगेगा

ये आख़िरी कंपकंंपाता जुमला कि इस तअ'ल्लुक़ को ख़त्म कर दो
बड़े जतन से कहा है उस ने नहीं किया तो बुरा लगेगा

Best urdu poet
Zubair ali tabish

*******   ********  *******

वैसे तू मेरे मकाँ तक तू चला आता है
फिर अचानक से तिरे ज़ेहन में क्या आता है

तेरे ख़त आज लतीफ़ों की तरह लगते हैं
ख़ूब हँसता हूँ जहाँ लफ़्ज-ए-वफ़ा आता है

तुझ को वैसे तो ज़माने के हुनर आते हैं
प्यार आता है कभी तुझ को बता आता है

Best urdu poetry
Zubair ali tabish

*******   ********  *******

रास्ते जो भी चमक-दार नज़र आते हैं
सब तेरी ओढ़नी के तार नज़र आते हैं

कोई पागल ही मोहब्बत से नवाज़ेगा मुझे
आप तो ख़ैर समझदार नज़र आते हैं

मैं कहाँ जाऊँ करूँ किस से शिकायत उस की
हर तरफ़ उस के तरफ़-दार नज़र आते हैं

Best urdu shayari
Zubair ali tabish

*******   ********  *******

पहले मुफ़्त में प्यास बटेगी
बा'द में इक-इक बूँद बिकेगी

मैं भी पागल तू भी पागल
हम दोनों की ख़ूब जमेगी

Best urdu shayari
Zubair ali tabish

*******   ********  *******

वो जिस ने आँख अता की है देखने के लिए
उसी को छोड़ के सब कुछ दिखाई देता है

Best urdu shayari
Zubair ali tabish

*******   ********  *******

अपना कंगन समझ रही हो क्या
और कितना घुमाओगी मुझ को

Best urdu shayri
Zubair ali tabish

*******   ********  *******

तुम्हारा सिर्फ़ हवाओं पे शक गया होगा
चराग़ ख़ुद भी तो जल जल के थक गया होगा

Best urdu shayari
Zubair ali tabish

*******   ********  *******

खाली बैठे हो तो एक काम मेरा कर दो ना
मुझको अच्छा सा कोई जख्म अदा कर दो ना

ध्यान से पंछियो को देते हो दाना पानी
इतने अच्छे हो तो पिंजरे से रिहा कर दो ना।

Best urdu shayri
Zubair ali tabish

*******   ********  *******

भीड़ तो ऊंचा ही सुनेगी दोस्त
मेरी आवाज गिर पड़ेगी दोस्त

और दोस्त लफ्ज में ही दो है दो
सिर्फ तेरी नही चलेगी दोस्त
Indian young poets
Zubair ali tabish

*******   ********  *******

सितम ढाते हुए सोचा करोगे
हमारे साथ तुम ऐसा करोगे

अंगूठी तो मुझे लोटा रहे हो
अंगूठी के निशा का क्या करोगे।

मैं तुमसे अब झड़ता भी नही हूँ
तो क्या इस बात पर झगड़ा करोगे

वो दुल्हन बन कर रुक्सत हो गयी है
कहाँ तक कार का पीछा करोगे।

Young indian poet
Zubair ali tabish

*******   ********  *******

अपने बच्चों से बहुत डरता हूँ मैं
बिल्कुल अपने बाप के जैसा हूँ मैं

जिनको आसानी से मिल जाता हूँ मैं
वो समझते है बहुत सस्ता हूँ मैं

ज़ुबैर अली ताबिश
Zubair ali tabish



➡️ Read Ali Zaryoun ghazal Collection ⬅️

**** ***** **** ***** ***** ***** ****** ***** **** ****

दोस्तो उम्मीद करते है की ये post आपको अच्छी लगी होगी। ऐसी और शायरियों के लिए आप हमारी वेबसाइट nazmshayari.com को bookmark भी कर सकते है।

अगर आप किसी प्रकार की सलाह, सुजाव या किसी प्रकार का content हमे send करना चाहते है तो हमे nazmshayari@yahoo.com पर mail द्वारा contact कर सकते है। Thank you.
➡️You Can Also Download Our Mobile Application ⬅️

Post a Comment

1 Comments

  1. Jinko Aasani se mil jata hu me
    Bo samjhte hai bhut sasta hu me

    ReplyDelete

Search